बैंकिंग सेवा

Credit Card VS Debit Card में क्या फर्क और अंतर हैं ? हिंदी में जानें

बैंको में आप जब एकाउंट खोलते है तो उसके साथ एक debit card या credit card भी आपको मिलता हैं ।

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में ऐसे बहुत से अंतर है जो अधिकांश लोगों को पता नही होते । इन दोनों के बारे में मन मे कन्फ्यूजन रहती हैं कि दोनों में से कौनसा सही हैं ।

Credit Card VS Debit Card में क्या फर्क और अंतर हैं हिंदी में जानें

दोनो कार्डस के बीच काफी फर्क होता है जो दोनो को एक दूसरे से अलग बनाता हैं । इसके उपयोग भी अलग ही होते हैं ।

बैंक में जैसे हम एकाउंट के लिए अप्लाई करते हैं तो फॉर्म में सिर्फ debit card का option ही हमें मिलता है । अब आप सोच रहे होंगे कि फिर credit card कैसे मिलता होगा । तो इसके बारे में आपको यहां पूरी जानकारी मिलेगी ।

आप या आपके आसपास ज्यादातर लोगों के पास डेबिट कार्ड ही दिखाई देंगे । इनमे से अधिकांश rupay वाले कार्डस ही पाए जाते हैं । इसका मुख्य कारण ये हैं कि इनके प्रकारों के बारे में लोगो के पास पर्याप्त जानकारी का ना होना ।

हम यहां दोनो के बारे में अच्छे तरीके से जानेंगे जिससे आपको सारी बाते आसानी से समझ मे आ जाएंगी ।

Difference Between Credit Card And Debit Card In Hindi

इन दोनों में बहुत ज्यादा अंतर होता है जो एक new bank खाताधारक को जरूर जानना चाहिए । आईये जानते हैं ।

1. बैंक का कंट्रोल

डेबिट कार्ड आपको अपने बैंक एकाउंट के साथ ही जारी किया जाता हैं । ये आपके खाते से सीधा जुड़ा हुआ होता हैं । मतलब अगर आपका खाता आपके debit card से लिंक नही हैं तो आपको इसको use नही कर सकते ।

क्रेडिट कार्ड में कोई बैंक खाता नही होता बल्कि ये खुद ही एक bank हैं । इसके लिए आपको अलग से apply करना होता है । सभी banks आपको credit card allow नही कर सकती । यानी कहने का मतलब है कि इसका bank account से कोई मतलब नही होता ।

ये आपको आपकी कमाई के आधार पर मिलता है कि आप कितना कमाते हैं ।

2. समान पासवर्ड और पिन

दोनो के उपयोग कर लिए आपको चार अंको का पासवर्ड चाहिए जो कि आपको पहली बार आपकी बैंक के दुआरा ही जारी किया जाता हैं । बिना pin के आप इन दोनों का उपयोग नाह कर पाएंगे ।

3. पैसे खर्च करने की सीमा

जैसा कि डेबिट कार्ड आपके बैंक से जुड़ा हुआ होता है तो उसमें वही रुपये आप खर्च कर सकते हैं जो आपके दुआरा जमा किये गए हैं । यानी अगर आपको online shopping करनी हैं तो उसके लिए आपके account में पैसा होना जरूरी हैं ।

दूसरी बात ये है कि आपको आपके खाते से खर्च और जमा करने पर कोई रोक नही है । आप जितना चाहे उतना पैसा निकाल और जमा कर सकते हैं ।

जबकि credit card में इसका बिल्कुल उलटा होता हैं । अच्छी बात ये है कि आपके पास पैसे ना होने पर भी आप शॉपिंग कर सकते हैं । सीधा सा मतलब ये हैं कि ये एक loan card हैं । इसमे आपको मिली हुई राशी सीमा तक ही आप इसमे से खर्च कर सकते हैं ।

जो पैसा आपने क्रेडिट कार्ड से खर्च किया था वो आपका नही होता बल्कि बैंक का होता हैं । उसका भुगतान आपको कुछ ब्याज के साथ हर महीने पे करने होते हैं ।

उदाहरण के लिए मान लीजिए कि आपको एक महीने में 10000 तक खर्च करने की अनुमति हैं तो आप इससे ज्यादा व्यय नही कर सकते ।

4. उपयोग करने में आसानी

अगर दोनों के बारे में बात करें तो कौनसा cards उपयोग करने में आसान हैं तो आप दोनों को मान सकते हैं ।

अगर आप ये सोचते है कि आप कोई चीज तभी लेंगे जब आपके पास पैसा हो यानी आप किसी चीज के लिए इंतजार कर सकते है तो आपके लिए debit कार्ड सबसे अच्छा विकल्प होगा ।

जब आपके पास पैसो का कोई जुगाड़ नही हैं और आपका प्लान बन गया कि आज मुझे 10000 रुपये का मोबाइल लेना हैं तो credit card आपके लिए बढ़िया हैं । इसमे आपको कुछ एक्स्ट्रा पैसा bank को पे करने होते हैं ब्याज के साथ

5. दोनो को बनवाने की फीस

डेबिट कार्ड में आपको कोई पैसा नही देना होता जब ये आपको मिलता हैं । इसकी सुविधा एकदम फ्री हैं । हालांकि कार्ड खोने पर नए के लिए आपको पैसा pay करना पड़ सकता हैं ।

अगर बात करें क्रेडिट कार्ड की तो इसके लिए हर जगह पैसा देना होगा । अगर आप इसे बनवाएंगे तो उसके लिए 200 रुपये से लेकर 5000 तक एक साल के लिए देने होंगे । ये fees आपके खर्च करने की सीमा पर निर्धारित होती हैं । हालांकि कुछ banks ऐसे भी हैं जो आपको फ्री में भी दे देंगी लेकिन आपको उनके कुछ rules follow करने होंगे ।

इसके साथ ही इसमे खर्च किये गए पैसों के साथ ब्याज भी देना होता हैं । और भी इसमे hidden charges भी हो सकते हैं ।

इतना जानने के बाद अब आप आसानी से ये तय कर सकते है कि आपको debit कार्ड बनवाना चाहिए या आपके लिए credit card एक better option साबित होगा ।