PF और EPF क्या हैं ? पीएफ और ईपीएफ की पूरी जानकारी हिंदी में

अगर आपने अभी तक सरकारी नौकरी या private job नही की है तो आपके लिए PF और EPF  के बारे में जानना जरूरी हैं । इसलिए हम यहां आपको पीएफ और ईपीएफ के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं ।

PF और EPF क्या हैं  पीएफ और ईपीएफ की पूरी जानकारी हिंदी में

जो लोग पहले से ही किसी भी तरह की सरकारी नौकरी करते हैं उन्हें इन दोनों के बारे में आसानी से पता होगा लेकिन अगर आप नये हैं तो आपको इसके बारे में जानना जरूरी है ।

दरअसल पीएफ और ईपीएफ का संबंध हमारे बैंक खाते से हैं यह हमें किसी कंपनी में काम करते समय दिए जाते हैं इस PF खाते में हमारी कंपनी या फिर सरकारी नौकरी से मिलने वाली तनख्वाह का कुछ परसेंट भाग जमा किया जाता है ।

इसे बाद में EPF की मदद से निकाला जाता हैं ।

पीएफ और ईपीएफ खाता क्या है के साथ PF कितने दिन में आता है । पी पी एफ और ई पी एफ में बैलेंस कैसे चेक करें इन सारे सवालों का जबाब आपको इस article में मिल जायगा ।

PF क्या है ?

इससे जुड़े और भी सब्द है आपको उनसे कंफ्यूज नही होना चाहिए ।

इसके अंतर्गत आपको जानने को मिलेगा पीएफ क्या है ? इसी के साथ pf कितना कटता है और कितना कटना चाहिए ।

पीएफ और EPF कैसे निकाले और एकाउंट चेक किस तरह होगा ।

सभी की बारे में आईये जानते है। ।

पीएफ एक तरह से उन लोगो के लिए बढ़िया चीज है जो किसी कंपनी या सरकारी नौकरी करते हैं । PF Full Form इसका पूरा नाम Provident Fund होता हैं । ये एक प्रकार का बैंक खाता है जिसमे आपकी मेहनत का कुछ भाग धीरे – धीरे जमा होता हैं ।

इसे आप मिट्टी की गुल्लक भी बोल सकते है जिसमे बचपन मे हम पैसे जमा किये करते थे ।

एक उदाहरण के तौर पर कुछ ऐसा समझिए

जैसा कि आप कही पे काम करते हैं ।

या तो आपके पास सरकारी नौकरी है या आप उस कंपनी में काम कर रहे है जो सरकार के नियंत्रण में चल रही हैं ।

Private Company को सरकार से इस योजना का लाभ अपने कर्मचारियों को दिलवाना है तो उसके लिए कंपनी का Sarkari Registration और Employees की संख्या  कम से कम 20 या 25 होनी चाहिए ।

इस इस्तति मे आपको वहां पर एक pf account खोलना पड़ेगा जिसे हम हिंदी में भविष्य निधि योजना भी बोल सकते हैं ।

पीएफ एकाउंट आप किसी भी बैंक में खुलवा सकते है या फिर आपको ये सुविधा कंपनी की तरफ से भी दे दी जाती हैं ।

ये तो आप जान चुके होने की PF क्या हैं ।

EPF क्या है ?

अब आपका PF Account खुल चुका है और इसका पूरा डेटा आपकी job से linked हो चुका है उसके बाद इसका नाम बदल जाता हैं ।अब ये ईपीएफ बन जाता हैं । EPF की फुल फॉर्म Employee Provident Fund हैं ।

सीधा सा मतलब ये है कि आपके पास कोई बैंक खाता है और आप pf मानिए । अब आप इसका उपयोग कही से अपनी कमाई लेने के लिए कर रहे है तो EPF हो गया ।

इसके बाद अब आपको पीएफ के बारे में और नई चीजें जान लेनी चाहिए जो आगे बताई जा रही हैं ।

PF कितना कटता है ?

कमाई के तौर पर आपको महीने की 30000 रुपये के सैलेरी मिलती हैं तो ये आपको पूरी नही मिलेगी । इसमे से कुछ भाग पीएफ में डाल दिया जाता है जो कि 10% से 12% तक होता है और बाकी का आपके मुख्य खाते में डाला जायगा ।

लेकिन अच्छी बात ये है की जब आप इसे निकालते है तो इसका दो गुना आपको मिलता है जो कि कुछ कंपनी की तरफ से और कुछ ब्याज मिलाया जाता हैं । जैसे अगर आपका 10 जमा हो रहा है तो आपको जब आप job छोड़ते है तो आपको 20 दिया जायेगा ।

पीएफ कब और कितना मिलेगा?

पीएफ के नियम बहुत ही सख्त होते है जो आपको follow करने होते हैं । ऐसा नही है कि आपका जब मन करें आप अपना pf निकालने चले जायँगे । ध्यान रहे ये राशि किसी विकट परिस्थितियों में बीच मे दी जा सकती हैं ।

ये पूरा पैसा आपको जब मिलता है तब आप अपनी job छोड़ रहे है या आपके सरकारी नौकरी का Retirement हो रहा हैं ।

ध्यान रहे जो आपका PF का पैसा होता है उसपर आपको कोई Tax Pay नही करना होता बल्कि सरकार उस पर आपको ब्याज देती हैं । ये कमाई आपकी पूरी तरह सुरक्षित रहती हैं । इसपर मिलने वाला ब्याज दर 7 से 9 परसेंट तक हो सकता हैं ।

ये कह सकते है कि अगर आपने 20 सालों में 1 लाख जमा कर लिए है तो आपको वापस 2 लाख तक मिलने की संभावना हैं ।

पीएफ के फायदे क्या हैं ?

ऐसा नही है कि जो आपने अभी तक ऊपर पढ़ा उसमे हमने पूरे फायदे गिना दिए है ।

सबसे जरूरी PF Benefits in Hindi में तो हम आपको अब बताने जा रहे हैं ।

जैसी ये योजना है वैसे ही इसके फायदे हैं ।

बिना पैसे लगाए इंसोरेंस मिलेगा

इसकी एक सम योजना Employee Deposit Linked Insurance के तहत आपको इसमे छः लाख तक का फ्री इन्शुरन्स मिल जाता है जो आपके भविष्य में कभी भी काम आ सकता हैं।

टैक्स नही लगता

ये जो आपका पैसा जमा होता है वो चाहे कितना भी हो सरकार का इसपर एक पैसे का भी टैक्स नही लग सकता हैं ।

ये समझ सकते है कि आपकी धनराशि पूरी की पूरी सुरक्षित हैं ।

पैसे बचाने का बढ़िया तरीका

हम चाहे कही भी कितना भी काम कर ले उससे मिलने वाला पैसा खर्च हो जाता हैं । लेकिन इसके अंतर्गत जाने वाले पैसे आपको कभी भी बिना कारण नही मिलते ।

तो आप ये समझ सकते है कि ये जमा नही होते तो ये भी खर्च हो जातें ।

Retirement के बाद भी पेंसन

आपने देखा होगा कि जब कोई सरकारी कर्मचारी Retire हो रहा है तो उसको कुछ पैसे मिलते हैं ।

लेकिन अगर आपने ध्यान दिया हो तो उसको बाद हर महीने पेंसन भी मिलती हैं ।

मतलब आप ये मान सकते है कि आपके PF का पैसा आपको कुछ EPF Scheme employee pension scheme approved के तहत पेंसन के रुप मे भी मिलता हैं ।

PF Balance Kaise Check Kare ?

कुछ लोगो को ये लगता है कि हम अपना पीएफ बैलेंस चेक नही कर सकते ।

लेकिन हम आपको ये बताना चाहते है कि ऐसा बिल्कुल नही हैं ।

अपनी जमा होने वाली रकम के बारे में  जानने का अधिकार सबको हैं । आप कुछ tips की मदद से अपना EPF अकॉउंट में जमा होने वाली राशि के बारे में पता कर सकते हैं ।

इसके लिए या तो मैसेज करिए

और मिस कॉल भी दी जा सकती है

या Play Store से Umang App डाउनलोड करें

या फिर UNA Number से भी बैलेंस पता किया सकता हैं ।

इन सभी के लिए आपको उमंग एप्प को डाउनलोड करना होगा । उसमे रजिस्ट्रेशन कीजिये वहां आपको सब जानकारी पूरी तरह से मिल जायेगी ।

अपना पीएफ कैसे निकाले ?

कभी – कभी हमारे पास किसी कारणवश पैसों की जरूरत पड़ जाती हैं ।

इस परिस्थिति में आपको अपना EPF Balance निकालने की जरूरत पड़ने लगती हैं ।

लेकिन कुछ लोगो को इसकी पूरी जानकारी नही होती तो वो बीच मे पैसा नही निकलवा पाते ।

आप उमंग ऐप में EPFO वाले ऑप्शन की मदद से अपना पैसा निकाल पाएंगे उसके लिए एक फॉर्म भरना होगा ।

इसके अलावा इनसे जुड़ी पूरी जानकारी आपको भविष्य में जब आप job करेंगे तब आसानी से मालूम हो जायेगी । basic knowledge आप इस आर्टिकल से ले सकते हैं जो आपके काम का साबित होगा ।

Finally , दोस्तो आपको यहां PF OR EPF Kya Hai इसके बारे में आसानी से समझ मे आया होगा । अगर पीएफ और ईपीएफ से सम्बंधित कोई और सवाल आपके पास है तो उसमें कमेंट के माद्यम से हमें बताएं ।

About the author

Surendra Saini

इन्टरनेट से जुडी काफी जानकारियां जिन्हें आपके लिए जानना जरुरी हैं उन्हें पढ़िए hindinetbook.com पर . और अधिक जानने के लिए मेल करें : [email protected]

Leave a Comment